IAS Ravi Sihag : UPSC CSE 2021 में 18वीं रैंक के साथ हिन्दी मीडियम से बने Topper

 

IAS Ravi Sihag : UPSC CSE 2021 में 18वीं रैंक के साथ हिन्दी मीडियम से बने Topper

IAS Ravi Sihag : UPSC CSE 2021 में 18वीं रैंक के साथ हिन्दी मीडियम से बने Topper
Ias Ravi Sihag : UPSC 2021 Hindi Medium Topper 


नमस्कार साथियों! Evcarss पर आपका स्वागत है। आज की यह पोस्ट जानकारी की दृष्टि से आप सभी के लिए महत्वपूर्ण है। हम इस पोस्ट में बात करेंगे UPSC CSE 2021 Hindi Medium Topper Ravi Sihag बारे में। रवि सिहाग से संबंधित रोचक तथ्य से परिपूर्ण इस ब्लॉग पोस्ट को पूरी अवश्य पढ़ें।

ग्रामीण अंचल से निकली प्रतिभा के लिए कैरियर के चुनाव में हमेशा अंग्रेजी भाषा बाधा के रूप में उभर कर सामने आती है। आज भले ही हम आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं लेकिन उच्च शिक्षा से लेकर उच्च वर्ग की नौकरी पाने के लिए अंग्रेजी में निष्णात होना आज भी प्रथम शर्त है। सफलता के इस विकृत पैमाने को ठेठ गांव देहात से निकलकर Ravi Sihag ने हिंदी भाषा में UPSC CSE 2021 में AIR 18 से IAS बनकर ध्वस्त करने का काम किया है। 
जहां देश की सबसे बड़ी व कठिन मानी जाने वाली संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा अभ्यर्थियों के लिए किसी चुनौती से नहीं है वहीं रवि ने UPSC में सफलता को दोहराया ही नहीं बल्कि तीन बार सफल होकर अंततोगत्वा हिन्दी मीडियम से टॉपर बनें और ऑल इंडिया रैंक 18 के साथ IAS बनने में कामयाब रहे। रवि की सफलता हिंदी भाषी अभ्यर्थियों में आशा की नई किरण जगाने का काम करेगी। 

रवि सिहाग जीवन परिचय

26 वर्षीय रवि सिहाग का जन्म राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में स्थित तहसील विजयनगर के गांव 3 DM के एक साधारण किसान परिवार में हुआ। रवि के पिता का नाम श्री रामकुमार सिहाग है जो पेशे से किसान है और माता श्रीमती विमला देवी गृहणी है।  

IAS Ravi Sihag Biography

Ravi Kumar Sihag 
Biodata
Full NameRavi Kumar Sihag
Date of Birth 1996
Vijaynagar, Shri Ganganagar, Rajasthan
ParentsSmt. Vimla Devi, Ramkumar Bishnoi (Farmer)
EducationBA
ProfessionIAS
CadreYet Be Allocated
Rank AIR 18 (CSE 2021)
UPSC Clear
  • CSE 2018 
    • Rank : 337
  • CSE 2019
    • Rank: 317
      • (Hindi Medium Rank IInd)
  • CSE 2021
    • Rank : 18 
      • (Hindi Medium Topper)

रवि सिहाग शिक्षा से सफलता


रवि ने प्रारम्भिक शिक्षा गांव के ही सरकारी स्कूल से ग्रहण की और आगे की स्कूली पढ़ाई न्यू हॉप स्कूल विजयनगर से पूरी की। ग्रेजुएशन की डिग्री अनूपगढ़ से प्राप्त की। रवि ने हिंदी माध्यम से स्नातक तक की शिक्षा पूरी की और प्रत्येक कक्षा में प्रथम श्रेणी से पास हुए।
वर्ष 2015 में स्नातक का पूरी करने के पश्चात 1 वर्ष तक रवि ने शिक्षा में गेट दिया और घर पर ही रहे। साधारण किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले रवि के लिए सिविल सेवा में जाने का ख्वाब देखना तो सरल था लेकिन इस बड़ी परीक्षा में सम्मिलित होकर सफल होने की राह उससे कहीं कठिन व दुष्कर प्रतीत हो रही थी। 
 
रवि ने दृढ़ निश्चय और संकल्प के साथ अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए दिल्ली का रुख किया। वहां रहकर सिविल सेवा की तैयारी की और वर्ष 2018 में यूपीएससी द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा (CSE 2018) में प्रथम बार भाग लिया व AIR 337 के साथ सफलता प्राप्त की और IRTS कैडर मिला लेकिन रवि ने ज्वाइन नहीं किया क्योंकि उन्होंने कलेक्टर बनने का ख्वाब जो सजाया था। दूसरी दफा CSE-2019 में भाग्य आजमाया इस बार रैंक सुधार करने में कामयाब रहे और हिन्दी मीडियम से द्वितीय रहे। 317 वीं रैंक के साथ इंडियन डिफेंस सर्विस का कैडर चयन हुआ। रवि ने ज्वाइन किया और वर्तमान में नेशनल डिफेंस एकेडमी पुणे में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। अपने ख्वाब को जिंदा रखते हुए रवि ने प्रशिक्षण के दौरान ही प्रयास जारी रखे और वर्ष 2021 की सिविल सेवा परीक्षा दी। इस बार रवि का उदय हुआ और हिंदी मीडियम से युपीएससी (Hindi Medium UPSC Topper) टॉप कर नया किर्तिमान रच दिया। ऑल इंडिया रैंक 18 के साथ रवि अब IAS बनेंगे। 


7 वर्षों बाद हिंदी मीडियम से यूपीएससी के टॉप रैंकर बने रवि सिहाग


UPSC CSE 2021 में हिंदी मीडियम टॉपर (UPSC Hindi Medium Topper) बनकर Ravi Sihag ने हिंदी पट्टी के अभ्यर्थियों में आशा की नई किरण जगाने का काम किया है। इससे पहले वर्ष 2015 में निशांत कुमार जैन ने 13 वीं रैंक प्राप्त की थी। 


हिन्दी भाषी अभ्यर्थियों के लिए UPSC की तैयारी के लिए कंटेंट बहुत ही सीमित मात्रा में उपलब्ध है। जो उपलब्ध है वह भी निम्न गुणवत्ता वाला होता है जिससे हिन्दी पट्टी के अभ्यर्थियों का टॉप करना तो दूर टॉप 50 में भी वर्षों में एक-आध बार कोई आ पाता है। इस बार टॉप 25 में 2 से है दोनों (रवि - 18, सुनील धनवंता - 22) ही राजस्थान के रहने वाले हैं।


IAS Ravi Sihag Written and Interview Language


रवि ने परीक्षा हिंदी भाषा में दी और इन्टरव्यू के लिए भी हिन्दी भाषा का चुनाव किया। हिंदी भाषा के चुनाव पर रवि ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में बताया 'मेरी स्कूली शिक्षा से लेकर ग्रेजुएशन तक की शिक्षा हिन्दी भाषा में हुई है। अंग्रेजी से ज्यादा हिन्दी भाषा में मैं अपने आप को सहज पाता हूं इसलिए हिन्दी भाषा का चयन किया।


हिन्दी पट्टी के अभ्यर्थियों को संदेश

बड़े इंस्टीट्यूट से पास आउट या अंग्रेजी भाषा में शिक्षित अभ्यर्थी यूपीएससी क्रेक करेंगे यह मिथक का धारणा बनी हुई है। मैंने ठेठ गांव देहात से निकलकर साधारण स्कूलिंग और कॉलेज की पढ़ाई हिंदी भाषा में करने पश्चात भी तीन बार यूपीएससी में सफलता प्राप्त की है। भाषा महज अभिव्यक्ति का माध्यम मात्र है।  दृढ़ निश्चय के साथ सतत् तैयारी से करने वाला व्यक्ति किसी भी परीक्षा में असफल नहीं हो सकता। हालांकि हिंदी भाषा में यूपीएससी के लिए कंटेंट की उपलब्धता कम है लेकिन अंग्रेजी मेटेरियल को हिंदी में ट्रांसलेट कर नोट्स बनाकर तैयारी की जा सकती हैं। मैंने भी ऐसा ही किया।
आईएएस रवि सिहाग

Follow IAS Ravi Sihag's @ Social Media

IAS Ravi Sihag's Social Media Account
Facebook
InstagramIAS Ravi Sihag : Insta
Twitter
साथियों हमने आपसे इस ब्लॉग पोस्ट में हिन्दी पट्टी अभ्यर्थियों के लिए प्रेरणा स्त्रोत IAS Ravi Sihag की Biography, Age, Rank, Optional, Exam language  के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी साझा की है। आशा है यह आपके लिए रुचिकर और उपयोगी सिद्ध होगी। 
आपसे निवेदन है अपने दोस्तों के साथ साझा कीजिए जो किसी ना किसी प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी में लगे हुए हैं।

0/Post a Comment/Comments